What is Motor Third Party Insurance?

Motor Third Party Insurance क्या है?

Third Party Insurance मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार सभी वाहन मालिकों के लिए कानून जरूरी है।

Generally Insurance में दो पार्टी होती हैं। पहली तो होती है आपकी Insurance Company और दुसरे होते हैं आप और हम यानि Policy Holder. इन दोनों पक्षों को छोड़कर किसी और व्यक्ति अर्थात तीसरे पक्ष को गाड़ी अथवा वाहन से शारीरिक नुकसान अथवा उसकी संपत्ति का नुकसान होने की स्थिति में यह Third Party Insurance मुआवज़ा देती है और Policy Holder को होने वाले Financial Loss को ये Policy Cover करती है।

Claim का निपटारा कैसे होता है?

इसमें जब क्लेम आता है तो Insurance Company एक Surveyor नियुक्त करती है वो Surveyor संपत्ति का नुकसान / गाड़ी का नुकसान का Workshop की मदद से आकलन करता है और उसके आधार पर Insurance Company तीसरे पक्ष को भुगतान करती है। तीसरे पक्ष को चोट लगने की स्थिति में उसके इलाज का खर्च भी इन्शुरन्स कंपनी भुगतान करती है। यदि दुर्घटना में तीसरे पक्ष की मृत्यु हो जाती है तो मामला कोर्ट में चला जाता है और कोर्ट के Decision & Directions के हिसाब से Insurance Company मृत व्यक्ति की परिवार वालों को मुआवज़े का भुगतान करती है।

Law के हिसाब से Third Party Insurance जरूरी भी है

Third Party Insurance मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार सभी वाहन मालिकों के लिए कानून जरूरी है। यह पालिसी न होने पर एक तो Fine देना होता है और दूसरा यदि कोई एक्सीडेंट हो गया तो उसका नुकसान अपनी जेब से भरना पड़ेगा और यदि किसी की मृत्यु हो गयी तो मुआवज़े के कई लाख रूपए चुकाने में लोगों के घर बिक जाते हैं। इसलिए यदि आप किसी गाडी या वाहन के मालिक हैं तो इस इन्शुरन्स को लेना बिलकुल मत भूलना।

Motor Third Party Insurance तीसरे पक्ष को हुए नुकसान से सुरक्षा प्रदान करता है। यह शारीरिक चोट, वाहन को नुकसान, संपत्ति को नुकसान और मृत्यु को Cover करता है। यह Policy इन स्थिति में Claim का भुगतान नहीं करेगी:

  • शराब पीकर गाड़ी चलाने से हुआ Accident
  • यदि चालक अवयस्क अथवा कम उम्र का हो या वैध ड्राइविंग लाइसेंस के बिना ड्राइविंग करते हुए का दोषी पाया गया हो
  • जान बूझकर की गयी दुर्घटना
  • Private गाड़ी अथवा वाहन का Commercial Use करने पर

Claim कैसे करें

  • दुर्घटना होने पर लड़ाई-झगड़ा न करें
  • पुलिस को तुरंत सूचित करें और अपनी शिकायत या FIR लिखवाएं
  • दुर्घटना होने पर तुरंत Insurance Company को सूचित करे
  • Insurance Company को Policy व अन्य सभी जरूरी दस्तावेज़ दें
  • Insurance Company नुकसान का आकलन करके मुआवज़े का भुगतान कर देगी

Claim ना मिलने की स्थिति में क्या करें?

यदि Insurance Company Claim Settle करने में आनाकानी करे अथवा ज्यादा समय लगाए तो आप अपनी पालिसी में दिए गए फोन अथवा ईमेल पर इनकी शिकायत कर सकते हैं।

इस बारे में Free Legal Advise के लिए हमें कमेंट या Email कर सकते हैं।
Our Email ID is : advnaresh@gmail.com

Motor Third Party Insurance | Third Party Insurance | BlogBoard | Insurance Truth | Third Party Insurance Claim |

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s